Love in Rain Shayari images of Love Shayari

Love in Rain Shayari images of Love Shayari


  • Barisho Se Adab-E-Mohobbat Seekho Faraz,
  • Agar Ye Ruth Shayari images Jayen To Barasti Bohot Hian.

  • बारिशों से अदब-ए-मोहब्बत सीखो फ़राज़,
  • अगर ये रूठ भी जाएँ,Love in Rain Shayari  तो बरसती बहुत हैं।



  1. Tumko Barish Pasand Hai Mujhe Barish Me Tum,
  2. Tumko Hansna Pasand Hai Mujhe Haste Hue Tum,Love in Rain Shayari
  3. Tumko Bolna Pasand Hai Mujhe Bolte Huye Tum,
  4. Tumko Sab Kuch Pasand Hai Aur Mujhe Bas Tum.



  • तुमको बैरिश पासंद है मुझसे बारिश मैं तुम,
  •  तुमको हंसना पसन्द है मुजे जल्द ही तुम,
  •  तुमको बोलना पसन्द है मुजे बोलते हुए तुम,
  •  तुमको कुच पासंद है और मुजे बस तुम।Shayari images 


  •  कितनी जल्दी यह मुलाकात गुज़र जाती है,
  • प्यास बुझती भी नहीं बरसात गुज़र जाती है,
  • अपनी यादों से कहो यु ना आया करे
  • नींद आती भी नहीं रात गुजरWhatsApp status love जाती है
Love in Rain Shayari images of Love Shayari
Shayari images of Love Shayari




  1. Kash Koi Is Tarah Bhi Wakif Ho
  2. Meri Zindagi Se,
  3. Ki Main Barish Me Bhi Roun Aur
  4. Wo Mere Aansu Parh Le.

  • काश कोई इस् तराह है वकिफ हो
  •  मेरी जिंदगी से,
  •  की मेन बरिश मैं भी रौन और
  •  वो मेरे आंसू परी ले।

  1. Ye Mausam Bhi Kitna Pyara Hai,
  2. Karti Ye Hawayen Kuch Ishara Hai,
  3. Jara Samjho Inke Jazbaton Ko,
  4. Ye Kah Rahin Hai Kisi Ne Dil Se Pukara Ha
Rain Shayari 
  • ये मौसम भी किटना प्यारा है,
  •  कार्ति ये हैवेन कुच इशारे है,
  •  जारा समुझो इन्के जज्बटन को,
  •  ये कह रही है कैसी ये दिल से पुकारा हा


  • मोहब्बत तो वो बारिश है
  •  जिससे छूने की चाहत मैं
  •  हथेलियां तो गीली हो जाती है
  •  पर हाथ खाली ही रह जाता हैRain Shayari images

Love in Rain Shayari images of Love Shayari

तबदीली जब भी आती है
 मौसम की एक फसल में,
 किसी का यू बदल जाता है,
 बहुत याद आता है
Shayari of Love

Jab Jab Ghire Badal Teri Yaad Aayi,
Jab Jhoom Ke Barsa Sawan Love Yaad Aayi,
Jab Jab Main Bheega Mujhe Teri Yaad Aayi,
Mere Bhai Tu Ne Meri Chhatri Kyun Nahi Lautai.

 जो है बादल बादल तेरीShayari images Love याद आयी,
 जब झूम के बरस सावन तेरी याद आयी,
 जब जब मेन भाये मुजे तेरी याद आयी,
 मेरे भाई तू ने मेरी छतरी क्यूं नहीं लुटाई।

Post a Comment

0 Comments