Dil aaj Shayar hai, Gham aaj Nagma hai Lyrics



Dil Aaj Shayar Hai, Gham Aaj  
दिल  आज  शायर है, ग़म  आज  नग्मा है, शब ये  ग़ज़ल है सनम  गैरों के  शेरों को ओ  सुननेवाले,  हो इस  तरफ भी करम


आके  ज़रा देख तो तेरी  खातिर हम  किस तरह  से जिये आँसू के  धागे से सीते  रहे हम जो  जख्म तूने  दिये चाहत की महफ़िल  में गम तेरा  लेकर  किस्मत  से खेला  जुआं दुनिया  से जीते,  पर तुझसे  हारे, यूँ  खेल  अपना हुआ




है प्यार  हमने किया  जिस तरह से,  उसका  न  कोई जवाब  जर्रा थे लेकिन  तेरी लौ में  जलकर,  हम  बन  गये आफताब  हमसे है ज़िंदा  वफ़ा और  हम ही से  है तेरी महफ़िल   जवां हम जब  ना होंगे तो  रो रो के दुनिया ढूँढेगी  मेरे  निशान




Dil aaj Shayar hai, Gham aaj Nagma hai Lyrics
Dil aaj Shayar hai, Gham aaj Nagma hai Lyrics





 ये प्यार  कोई खिलौना  नहीं है  हर कोई  ले जो  खरीद मेरी  तरह  ज़िन्दगी  भर तड़प लो,  फिर आना  इस के करीब हम  तो मुसाफिर है,  कोई सफ़र हो  हम तो  गुजर जायेंगे ही  लेकिन लगाया  है जो दाँव हमने  वो  जीतकर
आयेंगे ही







Dil Aaj Shayar Hai, Gham Aaj Lyrics

Dil aj shaayar  hai, gm aj  nagma  hai, shab ye gjl hai  sanam Gairo n ke she ron ko o sunan ewaale, ho is tavraf bhi  karam


Ake jra  dekh to teri  khaatir  ham kis  tarah se jiye  Ansu ke dhaag e se  site rahe  ham jo jakhm tune diye Chaahat ki mahafil men gam tera  lekar kismat  se khela juan  Duniya se  jite, par tujhase  haare, yun khel apana  hua



Hai pyaar  hamane kiya jis   tarah se,   usaka n koi jawaab Jarra    the lekin teri   lau men jalakar,    ham ban gaye    afataab Hamase hai jinda   wafa aur ham   hi se hai teri mahafil   jawaan Ham jab na   honge to ro ro ke   duniya   dhundhegi mere   nishaan






 Ye pyaar   koi khilauna    nahin hai   har koi le jo kharid   Meri tarah   zindagi   bhar tadp lo, fir ana   is ke karib Ham   to musaafir hai, koi safr   ho ham to gujar   jaayenge hi Lekin lagaaya   hai jo   daanw hamane   wo jitakar ayenge hi