Attitude Shayari In Hindi 2020 शायरी


Attitude Shayari In Hindi


तसल्ली से पढ़े होते तो समझ में आते हम,
ज़रूर कुछ पन्ने बिना पढ़े ही पलट दिए होंगे।

Attitude Shayari
इश्क की हमारे बस इतनी सी कहानी है,
तुम बिछड गए हम बिख़र गए,
तुम मिले नहीं और...
हम किसी और के हुए नही।

Attitude Shayari In Hindi 2020 बेस्ट ऐटिट्यूड शायरी


 तेरे दिल के बाजार में मै रोज़ बिकता हु।  कुछ लफ्ज़ तेरी यादों के हर रोज़ लिखता हु। 



मेरे साथ जब मैं खुद खड़ा होता हूँ,
तब मैं क़यामत के हर तूफ़ान से बड़ा होता हूँ।

औरो से छिपकर कल मैं भी ज़रा शरमाया था , ख्याल उसका जब कल मेरे सपनों में आया था।”




ख्वाबो में मेरे आप रोज आते हो,
कभी दर्द, कभी खुशियाँ दे जाते हो,

शायद कोई तो कर रहा है मेरी कमी पूरी
तब ही तो मेरी याद तुम्हे अब नहीं आती


Attitude ki Shayari In Hindi 2020 बेस्ट ऐटिट्यूड शायरी .
तुम्हारे हँसने के अंदाज़ से पता चल रहा है कि बहुत कुछ टूटा है तेरे अंदर बहुत ख़ामोशी से 


कितना प्यार करते हो आप मुझ से,
सिर्फ मेरे इस सवाल का जवाब टाल जाते हो.

सुनो.. जब तुम हंसती हो ना,
तब और भी Pyaari लगती हो…




चुपचाप गुजार देंगे तेरे बिना भी ये जिंदगी
लोगों को सिखा देंगे मोहब्बत ऐसे भी होती है…



इस जिंदगी में कभी कुछ खत्म नही हो सकता, आपकी शुरुआत करना ही सबसे बेहतर है।



फासला जरा सा था वो मिटा न सके और
हमारी मोहब्बत बेहिसाब थी हम बता न सके।



बहुत नुक्स निकालते हैं वो इस कदर हम में
जैसे उन्हे खुदा चाहिए था और हम तो इंसान निकल।


तुम जलते रहोगे आग की तरह, और हम खिलते रहेंगे गुलाब की तरह।

भाई बोलने का हक मैंने सिर्फ दोस्तों को दिया है वरना आज भी दुश्मन मुझे बाप के नाम से जानते हैं

पता नहीं लोग मोहब्बत को क्या नाम देते हैं…
हम तो तेरे नाम को ही मोहब्बत कहते हैं


मोहब्बत में झुकना कोई अजीब बात नहीं, चमकता सूरज भी ढल जाता है चाँद के लिए!!

अगर हम सुधर गए तो उनका क्या होगा जिनको हमारे पागलपन से प्यार हे!!




दर्द तो  बिछड़ने का सब को होता है ।
मगर  दर्द दिल किसी किसी को होता है


तारीफ़ तो करनी पड़ेगी तेरे ईमान की 
तुमने सारी बेईमानियां कर दीं बड़ी ईमानदारी के साथ,




कहने लगी है तन्हाई मुझसे ..
मुझसे मोहब्बत 2020 कर लो ..
मैं बेवफा नहीं ..


हम उस लम्हा__भी इंतज़ार करेंगे तेरा.
जब कोई 2020 उम्मीद ही नहीं होगी तेरे आने की.


निकाल ही दिया उसने हमें
अपनी ज़िन्दगी से भीगे कागज़ की तरह,
ना लिखने के काबिल छोड़ा हमें ना जलने के2020
मेरी रूह तरसती है तुम्हारी खुशबू को 2020
तुम कहीं और

महको तो बुरा लगता है
चलने लगी है हवाये
सागर भी लहराये


पल पल दिल मेरा 2020 बहके
पल पल तुम याद आये




कुछ लोग अपनी आंखो से दर्द 2020 बहा देते हैं..
और कुछ लोग की 2020 हंसी मे भी दर्द छुपा होता है..




हम भी मुंह में ज़बान रखते है ..
कुछ समझ कर बुरा भला कहिए


गैरों के सामने बुला के मुझे ..
कहते है दिल का 2020 मुद्दआ कहिए



मोहब्बत में कुछ 2020  मिले या ना मिले..
बस   टाइपिंग..फ़ास्ट हो जाती हैं


सुकून ऐ 2020 दिल के लिए
 कभी हाल तो पूछ ही लिया करो
  लूम तो हमें भी हैकि
    हम आपके कुछ नहीं लगते



तेरे पनाह की तलब
यूँ 2020 ही बेसबब तो नही


तेरे दामन से बेहतर
कहीं कोई ज़मीं
नही मिलती 2020


सब्र करने पे आऊ तो मुड़ के भी ना देखूं..!
तुमने अभी देखा 2020 ही नहीं मेरा पत्थर होना..!!



तुम्हे खास करते हुए खुद को आम  कर लिया मैंनें
कुछ इस तरह 2020 ki मोहब्बत में काम तमाम कर लिया मैंनें


तुझे  पा कर  खत्म हो  गई सरहदें  प्यार की ...
इसलिए अब शायद किसी और पे 2020 प्यार आता नहीं ...


उम्र कटी मधुशाला में
मगर कभी पी 2020 नही....
बहुत लिखी "मोहब्बत"
मगर कभी 2020 की नही...



. दहलीज़-ए इश्क़ 2020 ka पे खड़े हैं, अब सितम हो जाने दो
इश्क़ तो एक क़यामत है, हमें हद से गुजर जाने दो.


ख़्यालों 2020 Shayari कोहरा, यादों की धुंध
 चाय की चुस्की और थोड़े-थोड़े तुम


ख़्वाहिश नहीं के टूट कर चाहो तुम मुझे,
ख़्वाहिश बस इतनी है 2020 के कभी टूटने ना देना मुझे,
लव यू 2020 ज़िन्दगी



इश्क़ कभी भी पुराना नहीं होता,
इश्क़ जैसा कोई ख़ज़ाना नहीं होता,
इश्क़ रखता है जवाँ दिलों 2020  को हमेशा
इश्क़ में उम्र जैसा पैमाना नहीं होता,



तुझसे नाराज़ होना होता तो कब 2020 के हो जाते,
तुम हसरत ए ज़िन्दगी हो कोई मतलब ए ज़िन्दगी नहीं,



नाराज़ रहते हो 2020 यूँ ही वक़्त गुज़र जाएगा,
दूर होने के बाद कोई बहुत याद आएगा,
बाँट लो ये पल जब तक हम साथ हैं
कल का क्या पता वक़्त कहाँ ले जाएगा,



आता है मुझे गिरकर संभलने का हुनर,
मैं हर हाल में ख़ुश 2020  हूँ मेरी फ़िक्र ना करें,
है मेरा हर ग़ुनाह ये भी मंज़ूर है मुझे
कोई इल्ज़ाम नहीं आप पर फ़िक्र ना करें,


मेरी आवाज़ भी बेवफ़ा ki2020  लफ्ज़ भी गुमशुदा हो गए
मुझसे रुठा है सारा जहां आप जबसे खफ़ा हो गए


कहाँ से लाऊँ वो लफ्ज़ जो सिर्फ तुझे सुनाई दे,,,,
दनियाँ देखे अपने चाँद 2020  को मुझे बस तू ही दिखाई दे....


ख़ुदा दे तुझे मुझसे भी बेहतर
फिऱ 2020  भी  तू मेरे लिए तरसे.


जो फ़ना हो जाऊं तेरी चाहत में तो ग़रूर ना करना . ये असर नहीं तेरे इश्क़ का ,2020  मेरी दीवानगी का हुनर


तेरे पनाह की तलब
यूँ ही 2020 बेसबब तो नही


तेरे दामन से बेहतर
कहीं कोई ज़मीं
नही मिलती 2020


नज़रअंदाज़ करते हो ..
लो हट जाते है 2020 नज़रो से..


इन्हीं नज़रो से ढूँढोगे ..
नज़र जब हम 2020 ना आएँगे.


तुझे  पा कर  खत्म हो  गई सरहदें  प्यार की ...

इसलिए अब शायद किसी और पे प्यार 2020 आता नहीं .



चीरागो  से मत पूछो, बाकि तेल कितना है... सांसो से मत पूछो, बाकि खेल  कितना है... पूछो उस कफन में लिपटे मुर्दे से, जिंदगी में गम 2020, और कफ़न में चैन कितना है.







Post a Comment

0 Comments