Antarwasnna Poem Shayari Hindi, अन्तर्वासना हिंदी शायरी

 Antarwasnna Poem Shayari Hindi, अन्तर्वासना हिंदी शायरी

ना ताक़त आप में है ना आपकी हड्डी में है
आप की ताक़त ना तो तन पर, न तो हड्डी में है
वाह! वाह!!…

रोये हम इस कदर उनके सीने से लिपट कर;
वाह वाह!
रोये हम इस कदर उनके सीने से लिपट कर;
कि वोह खुद अपनी कमीज़ उतारकर बोली;
ले चूस ले भडवे, बेकार मे नाटक मत कर!

आप की ताक़त ना तो तन, न तो हड्डी में है
ताक़त तो उस पर है, जो बिना हड्डी के साथ , आपकी चड्डी में है

Antarwasna Poem Shayari Hindi

ज़िंदगी में कुछ पकड़ना है तो बुलंदियों को पकड़ो;
बात-बात पर  पकड़ने से कुछ नहीं मिलेगा।

जलते हुए दीपों की तरह जगमगाते रहना,
हमारी दुआ है तुम सदा मुस्कराते रहना!
कितनी भी चप्पलें पड़ें तुम्हें ऐ मेरे दोस्त,
जिंदगी भर तुम लड़कियाँ पटाते रहना..!!

शरीके-ज़िंदगी तू है मेरी, मैं हूँ साजन तेरा,
ख्यालों में तेरी ख़ुश्बू है चंदन सा बदन तेरा,
अभी भी तेरा हुस्न डालता है मुझको हैरत में,
मुझे दीवाना कर देता है जलवा जानेमन तेरा||

ज़िंदगी की कुछ खास दुआएं लेलो हमसे,
जन्मदिन पर कुछ नज़राने ले लो हमसे,
भर दे रंग जो तेरे जीवन के पलो में,
आज वो हसीं मुबारक बाद ले लो हमसे||
Antarwasnna Poem Shayari Hindi, अन्तर्वासना हिंदी शायरी

Antarwasnna Poem Shayari Hindi

कभी तिनके, कभी पत्ते, कभी खुशबू उड़ा लाई,
हमारे घर तो आँधी भी कभी तन्हा नहीं आई||

तुम्हें अपना कहने की तमन्ना,
थी आरज़ू मेरे दिल में,
लबों तक आते आते,
ग़ैर हो गए पल में||

कसूर तो था ही इन निगाहों का,
जो छुपके से दीदार कर बैठा,
हमने तो ख़ामोश रहने की ठानी थी,
बेवफा ये ज़ुबान इज़हार कर बैठा||

ज़िन्दगी तब बहतर होती है जब हम खुश होते हैं,
लेकिन ज़िन्दगी तब बहतरीन होती है, जब हमारी वजह से कोई खुश होता है||

राज तो हमारा हर जगह पे है,
पसंद करने वालों के दिल में और,
न पसंद करने वालों के दिमांग में||